नहीं हो सकी नौवीं कक्षा की परीक्षा

नवीं कक्षा के रजिस्टर में नाम नहीं रहने से भड़के थे छात्र

स्कूल से हटाए गए एक शिक्षक पर छात्र लगा रहे थे पैसा वसूली का आरोप

फोटो न्यूज, शेरघाटी के कचौड़ी हाइ स्कूल में छात्रों के हंगामे के बाद पहुंची पुलिस

शेरघाटी। निज संवाददाता

शेरघाटी के कचौड़ी हाइ स्कूल में पढ़ने वाले नवीं कक्षा के छात्रों ने रजिस्टर में नाम दर्ज नहीं रहने और रजिस्ट्रेशन नहीं कराए जाने के कारण शनिवार को स्कूल में बवाल काटा और तोड़ फोड़ की। छात्रों के आक्रोश को देखते हुए नवीं कक्षा के छात्रों की परीक्षा को भी स्थगित कर दिया गया। परीक्षा का आज पहला दिन था। छात्रों के उग्र व्यवहार को लेकर मौके पर पुलिस बुलानी पड़ी। बाद में मौके पर पहुंचे शेरघाटी के थानेदार राजकिशोर सिंह और सीओ सुधीर कुमार तिवारी ने दोषी शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन देकर मामले को शांत करवाया। छात्रों ने पुलिस अधिकारी को लिखित शिकायत भी दी है।

छात्रों की क्या है शिकायत

छात्रों का आरोप था कि स्कूल के तत्कालीन प्रभारी प्रधानाध्यापक रामाशीष यादव ने करीब 68 छात्र-छात्राओं से नवीं कक्षा में नामांकन और पहले से पढ़ रहे छात्रों से रजिस्ट्रेशन के नाम पर 600 रुपये से लेकर दो हजार रुपये तक की रकम वसूली, मगर किसी का नाम नहीं लिखा। स्वेच्छाचारिता और गड़बड़ी के आरोपों को लेकर पहले ही रामाशीष यादव को निलम्बित किया जा चुका है।

परीक्षा शुरु होने पर मामला हुआ उजागर

शनिवार को यह मामला तब सामने आया जब सभी छात्र परीक्षा देने स्कूल पहुंचे। यहां स्कूल में मौजूद प्रभारी प्रधानाध्यापक प्रदीप कुमार ने जब छात्रों को बताया कि उनके नाम रजिस्टर में दर्ज नहीं हैं, तो छात्र भड़क गए और हंगामा करने लगे। प्रधानाध्यापक का कहना है कि उन्होंने पिछले वर्ष दिसम्बर में प्रधानाध्यापक का प्रभार लिया है, इससे पहले जो शिक्षक थे उन्होंने ही छात्रों से नामांकन-रजिस्ट्रेशन के नाम पर पैसे लिए थे। स्कूल की बही में नौवीं कक्षा के छात्र के रूप में केवल 59 बच्चों के नाम दर्ज हैं, जबकि परीक्षा देने के लिए सौ से अधिक छात्र पहुंचे थे। इधर निलम्बन के शिकार शिक्षक रामाशीष यादव का कहना है कि सभी छात्रों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है, मगर वहां मौजूद शिक्षक छात्रों को भड़का रहे हैं।

क्या कहती हैं प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी

इधर शेरघाटी की बीईओ सुजाता कुमारी ने बताया कि उन्हें भी कचौड़ी हाइस्कूल में हंगामे की खबर मिली है। वह तथ्यों की जांच-परख कर रही हैं।



Source link